Diploma Notes

learn diploma and engineering study for free

  1. Home
  2. /
  3. About Polytechnic
  4. /
  5. 10वीं के बाद डिप्लोमा कोर्स कैसे करें? How to do diploma course after 10th in hindi.

10वीं के बाद डिप्लोमा कोर्स कैसे करें? How to do diploma course after 10th in hindi.

नमस्कार दोस्तों, यदि आपने 10वीं की परीक्षा उत्तीर्ण कर ली है या आप 10वीं क्लास में हैं तो यह लेख आपको यह बतायेगा कि 10वीं के बाद कौन-कौन से डिप्लोमा (Diploma) कोर्स किये जा सकते हैं? तथा कैसे किये जा सकते हैं? डिप्लोमा कोर्स से जुड़े अनेक तथ्यों के बारे में जानेंगे।

डिप्लोमा कोर्स क्या है? What is Diploma course?

डिप्लोमा कोर्स (Diploma course) एक ऐसी शिक्षा है जिसको हम 10वीं अथवा 12वीं के बाद कर सकते हैं तथा अपने इच्छा के अनुसार अपनी पढ़ाई कर सकते हैं। जिसमें आपको अल्प समय में औद्योगिक शिक्षा दी जाती है। जिससे हम अल्प समय में अपने व्यवसाय सम्बन्धित बहुत अधिक जानकारी प्राप्त कर लेते हैं। यदि अल्प समय में नौकरी प्राप्त करनी है तो डिप्लोमा बहुत अच्छा विकल्प होता है।

Diploma

Also Read. 10th के बाद पाॅलिटेक्निक करना उचित है? is it good to do polytechnic after 10th in hindi?

10वीं के बाद डिप्लोमा (Diploma after 10th)

यदि आप 10वीं कक्षा में हो या आपने 10वीं कक्षा उत्तीर्ण कर ली है तो आपके लिए काॅलेज में कौन सा डिप्लोमा कोर्स कर सकते हैं यह डिप्लोमा कोर्स की सूची निम्नलिखित हैं –

  • इंजीनियरिंग में डिप्लोमा (Diploma in engineering)
  • फैशन डिजाइन में डिप्लोमा (Diploma in fashion design)
  • ललित कला में डिप्लोमा (Diploma in fine art)
  • कला शिक्षक में डिप्लोमा (Diploma in art teacher)
  • आशुलिपि में डिप्लोमा (Diploma in stenography)

इंजीनियरिंग में डिप्लोमा (Diploma in engineering) –

इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करना बहुत ही अच्छा और आसान विकल्प होता है। इसमें प्रवेश पाने के लिए JEEP की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है फिर रैंकिंग के अनुसार काॅलेज/संस्थान का चयन करना होता है। संस्थान तभी अच्छा मिलता है जब आपकी रैंक अच्छी होती है इसमें तीन काउंसलिंग होती है यदि आपकी मिडियम है तो आपकी पहली काउंसलिंग में संस्थान में प्रवेश नहीं मिलता है तो आपकी दूसरी या तीसरी काउंसलिंग में प्रवेश मिलता है। इसलिए हमेंjeep entrance exam की अच्छी तरह से तैयारी करनी चाहिए।

इंजीनियरिंग में विभाग

  1. सिविल इंजीनियरिंग (Civil engineering)
  2. इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग (Electrical engineering)
  3. मेकैनिकल इंजीनियरिंग (Mechanical engineering)
  4. केमिकल इंजीनियरिंग ( Chemical engineering)
  5. सूचना प्रौद्योगिकी इंजीनियरिंग (Information technology engineering)

सिविल इंजीनियरिंग (Civil engineering)

सिविल इंजीनियरिंग (Civil engineering) में निर्माण कार्य सिखाया जाता है। जैसे बड़े भवनों का निर्माण, पुलों का निर्माण, स्मार्ट सिटी का निर्माण आदि के बारे में जानकारी दी जाती है।

इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग (Electrical engineering)

इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग (Electrical engineering) में विद्युत उत्पादन तथा वितरण के बारे में सिखाया जाता है। तथा विद्युत ऊर्जा से सम्बन्धित तथ्यों के बारे में जानकारी दी जाती है तथा विद्युत मशीनों का निर्माण करना तथा उन्हें ओपरेट करना सिखाया जाता है।

मेकैनिकल इंजीनियरिंग (Mechanical engineering)

मेकैनिकल इंजीनियरिंग (Mechanical engineering) में हमें वाहन निर्माण, इंजिन का निर्माण तथा इसकी कार्यप्रणाली को समझना, और मशीनों का निर्माण करना, मशीन ओपरेटिंग तथा खराब मशीन को ठीक करना आदि सिखाया जाता है।

फैशन डिजाइन में डिप्लोमा (Diploma in Fashion design)

फैशन डिजाइन डिप्लोमा, फैशन डिजाइन के क्षेत्र में बहुत ही अच्छा कोर्स है। इस डिप्लोमा में छात्रों को रचनात्मक एवं नवीनता खोजने के प्रेरित करना है जिससे छात्रों को फैशन डिजाइन में अधिक स्टायलिस रचनाओं के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त हो।

10वीं के बाद कुछ छात्रों का कुछ लक्ष्य होता है लेकिन कुछ छात्रों को के लिए लक्ष्य का चयन करना कठिन होता है जिस कारण वह दोस्तों और अभिभावकों के निर्णय मान कर गलन निर्णय लेते हैं जो कि भविष्य के लिए अच्छा नहीं होता है उन छात्रों को फैशन डिजाइन का डिप्लोमा कोर्स करना चाहिए।

ललित कला में डिप्लोमा (Diploma in fine art)

यह एक ऐसा डिप्लोमा है जो 10वीं उत्तीर्ण छात्रों के लिए प्रमाणपत्र स्तर का डिप्लोमा कोर्स है जिसमें प्रवेश 10वीं। में प्राप्त परिणाम के अनुसार होता है। यह कला क्षेत्र में अधिक जानकारी देता है।

जिन छात्रों को रचनात्मक एवं कला क्षेत्र में रूचि है उन छात्रों के लिए यह बहुत ही अच्छा विकल्प होता है। इस डिप्लोमा कोर्स की अवधि एक वर्ष तक होती है। एक वर्ष में ग्राफिक डिजाइनर, कला शिक्षण तथा कला संबंधित शिक्षा का अध्ययन किया जाता है।

कला शिक्षण में डिप्लोमा (Diploma in Art teacher)

यह 10वीं के बाद एक अच्छा विकल्प होता है यह डिप्लोमा कोर्स 6 महीने का एक स्केचिंग और विस्तृत पेंटिंग का प्रोग्राम होता है। तथा इसमें पढ़ाने का तरीका सिखाया जाता है। यह डिप्लोमा कोर्स उन छात्रों के लिए होता है जिनकी उम्र 17 + वर्ष हो। इसलिए कला शिक्षण व्यवसाय के रूप में एक अच्छा पेशा है।

आशुलिपि में डिप्लोमा (Diploma in stenography)

यह एक ऐसा डिप्लोमा कोर्स है जो कि एकवर्षीय या दो वर्षीय हो सकता है। यह संस्थान पर निर्भर करता है कि डिप्लोमा एक वर्ष का होगा या दो वर्षीय होगा क्योंकि इसमें अलग अलग संस्थानों का पाठ्यक्रम अलग-अलग होता है।

इस डिप्लोमा कोर्स में हमें अदालत या कानूनी कार्रवाई (खुलासा) करने की शिक्षा देता है। साथ ही सरकार द्वारा प्रमाणित प्रमाणपत्र भी देता है जिससे हम सरकार या निजी क्षेत्र में आशुलिपिक के रूप में नौकरी कर सकते हैं।

क्या 10वीं के बाद डिप्लोमा करना उचित होगा?

हां, 10वीं के बाद डिप्लोमा करना उचित है क्योंकि इससे अल्प समय में नौकरी पा सकते हैं।

Also read. What to do after polytechnic diploma in hindi

One thought on “10वीं के बाद डिप्लोमा कोर्स कैसे करें? How to do diploma course after 10th in hindi.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *