Diploma Notes

learn diploma and engineering study for free

  1. Home
  2. /
  3. Electrical Engineering
  4. /
  5. आर्मेचर प्रतिक्रिया क्या है? What is Armature Reaction in hindi

आर्मेचर प्रतिक्रिया क्या है? What is Armature Reaction in hindi

डी.सी. जेनरेटर को लोड से संयोजित करने पर आर्मेचर चालकों में धारा प्रवाहित होती है। आर्मेचर धारा के कारण उत्पन्न आर्मेचर फ्लक्स मुख्य फ्लक्स को प्रभावित करता है जिसे आर्मेचर प्रतिक्रिया (Armature Reaction) कहते हैं।

आर्मेचर प्रतिक्रिया (Armature Reaction) के कारण मुख्य फ्लक्स पर निम्न प्रभाव पड़ते हैं –

  1. विचुंबकन प्रभाव
  2. क्राश चुंबकन प्रभाव

यह प्रभाव चित्र में दिखाएं गए हैं। कोण AOC तथा BOD के मध्य पड़ने वाले चालको में धारा की दिशा ऐसी है कि उसके द्वारा उत्पन्न चुम्बकीय बल मुख्य क्षेत्र (main mmf) का विरोध करता है। इसे विचुंबकीय प्रभाव (demagnetising effect) कहते हैं तथा यह प्रभाव उत्पन्न करने वाले चालक demagnetising conductors कहते हैं।

कोण AOD तथा BOD में धारा की दिशा इस प्रकार होती है कि उसके द्वारा उत्पन्न mmf, मुख्य mmf के लंबवत होता है। इससे मुख्य क्षेत्र में विरुपण (distortion) उत्पन्न होता है तथा इसे क्रास चुम्बकन प्रभाव (Demagnetising effect) कहते हैं।

आर्मेचर प्रतिक्रिया (Armature Reaction)
Armature Reaction Diagram

आर्मेचर प्रतिक्रिया के कारण मुख्य ध्रुव (main pole) के लीडिंग ध्रुव किनारे (leading pole edge) पर फ्लक्स घनत्व कम हो जाता है तथा ट्रेलिंग ध्रुव किनारे (trailing pole edge) पर अधिक हो जाता है।

आर्मेचर धारा के कारण उत्पन्न चुंबकीय वाहक बल (magneto-motive force) अथवा आर्मेचर एम्पियर टर्न दो भागों में विभाजित किया जा सकता है।

विचुम्बकीय एम्पीयर टर्न – ATd (Demagnetising Ampere Turns)

यह चुंबकीय बल मुख्य चुंबकीय बल के विपरीत कार्य करता है। जिसके कारण मुख्य फ्लक्स दुर्बल हो जाता है। यह विचुम्बकन प्रभाव को समाप्त करने के लिए मुख्य क्षेत्र में टर्न की संख्या बढ़ाई जाती है।

विचुम्बकन एम्पीयर टर्न –

डी.सी. जेनरेटर में विचुम्बकन एम्पीयर टर्न की संख्या निम्न व्यंजक द्वारा दी जाती है।

ATd/pole = ZI  θm/360

यहां θm यांत्रिक अंशों (Mechanical Degress) में कोण का वह मान है जिस पर बुशों को ज्यामितीय उदासीन अक्ष (Geometrical Neutral Axis) से आगे घुमाया जाता है।

क्रास चुम्बन एम्पीयर टर्न – ATC (Cross Magnetisation Ampere Turns) –

यह चुंबकीय बल मुख्य चुम्बकीय क्षेत्र के लम्बवत् कार्य करता है। जिसके कारण मुख्य फ्लक्स की दिशा परिवर्तित होने का प्रयत्न करती है।

क्रास चुम्बकन एम्पीयर टर्न ATC

ATC/pole = ZI{(1/PZ) – (θm/360)}

Qm बुशों का लीड कोण (Lead Angle) है। इसे विद्युत अंशों (Electrical Degress) में निम्न प्रकार परिवर्तित किया जा सकता है।

θe (Electrical) = P/2 × θm

आर्मेचर प्रतिक्रिया को निम्न प्रकार उदासीन किया जा सकता है। (The armature reaction can be neutralized as follows)

  • वायु गैप की लम्बाई बढ़ाकर
  • कम्पैनसेटिंग वाइंडिंग प्रयुक्त कर
  • कम्यूटेटिंग पोल्स प्रयुक्त कर
  • पोल (poles) का अनुप्रस्थ क्षेत्र कम कर

Also read. मल्टीमीटर क्या है? What is multimeter in hindi

आर्मेचर प्रतिक्रिया किसे कहते हैं?

डी.सी. जेनरेटर को लोड से संयोजित करने पर आर्मेचर चालकों में धारा प्रवाहित होती है। आर्मेचर धारा के कारण उत्पन्न आर्मेचर फ्लक्स मुख्य फ्लक्स को प्रभावित करता है जिसे आर्मेचर प्रतिक्रिया (Armature Reaction) कहते हैं।

One thought on “आर्मेचर प्रतिक्रिया क्या है? What is Armature Reaction in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *