Diploma Notes

learn diploma and engineering study for free

  1. Home
  2. /
  3. Electrical Engineering
  4. /
  5. गैस टरबाइन शक्ति केंद्र क्या होता है?(What is Gas turbine Power Plant)

गैस टरबाइन शक्ति केंद्र क्या होता है?(What is Gas turbine Power Plant)

नमस्कार दोस्तों इस लेख में हम जानेंगे कि गैस टरबाइन शक्ति केंद्र (Gas turbine Power Plant) क्या होता है तथा हम यह भी जानेंगे कि इस संयन्त्र से कितना विद्युत उत्पादन किया जाता है। तथा इससे जुड़े हुए अनेक तथ्यों के बारे में जानेंगे।

गैस टरबाइन शक्ति केंद्र (Gas turbine Power Plant)

गैस टरबाइन में गैसीय या द्रव ईंधन को जलाने से उत्पन्न ऊष्मा का प्रयोग किया जाता है। इसका सिद्धांत है की टरबो कम्प्रेसर, शुद्ध वायु अथवा वायु एवं गैस को निश्चित लाभ तक संपीडित (Compress) कर इसे जलाता है और ज्वलन टैंक, जिसमें निश्चित दाब पर ज्वलन होता है, में ईंधन जलकर सामान्य दाब (Normal Pressure) तक टरबाइन में प्रसार करता है।

Gas turbine Power Plant
Gas turbine Power Plant

गैस टरबाइन शक्ति केंद्र से विद्युत उत्पादन का मूल्य ज्ञात करना (Economic of Power Generation from Gas turbine Power Plant)

विद्युत ऊर्जा के उत्पादन का मूल्य तीन भागों में विभाजित किया जा सकता है –

  1. स्थिर लागत (Fixed cost)
  2. अर्द्धस्थिर लागत (Semi fixed cost)
  3. रनिंग लागत (Running cost)

ऊर्जा का कुल वार्षिक मूल्य (Total annual cost of energy)

= Fixed cost + Semi fixed cost + Running cost
= Rs (a + bkW + ckWh)

डैपरिशियेशन ज्ञात करने की विधि (Methods of Determining Depreciation) –

डैपरिशियेशन के कारण प्रत्येक वर्ष प्लान्ट के उपकरण तथा अन्य सम्पति भवन आदि के मूल्य में कमी (reduction of cost) होती है।

वार्षिक डैपरिशियेशन निर्धारित करने की तीन विधियां होती है –

  1. सरल रेखा विधि (Straight line Method)
  2. मूल्य ह्रास विधि (Diminishing Value Method)
  3. सिंकिंग फण्ड विधि (Sinking Fund Method)

सरल रेखा विधि (Straight line Method) –

इस विधि में वार्षिक डैपरिशियेशन चार्ज निम्न होते हैं –

q = (P - S)/n

जहां, P उपकरणों का मूल्य, S प्लान्ट के उपयोगी जीवन के पश्चात् मूल्य तथा n उपकरणों का उपयोगी जीवन, वर्षो में है।

मूल्य ह्रास विधि (Diminishing Value Method) –

इस विधि में प्रथम वर्ष के लिए डैपरिशियेशन निम्न होता है –

q = P{1-(S/P)1/n}

जहां, P उपकरणों का मूल्य तथा S उपयोगी जीवनकाल के बाद स्क्रेप मूल्य तथा n उपकरणों का उपयोगी जीवनकाल, बर्षों में है।

सिंकिंग फण्ड विधि (Sinking Fund Method) –

इस विधि में वार्षिक डैपरिशियेशन चार्ज निम्न होता है –

q = (P - S)[r/{(1+r)n -1}]

जहां, P उपकरणों का प्रारंभिक मूल्य, n उपकरणों का जीवनकाल बर्षों में, S उपयोगी जीवनकाल के पश्चात स्क्रैप मूल्य तथा r वार्षिक ब्याज की दर है।

इन्हें भी पढ़ें –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *