Diploma Notes

learn diploma and engineering study for free

  1. Home
  2. /
  3. Electrical Engineering
  4. /
  5. प्‍लास क्या है? What is plier in hindi

प्‍लास क्या है? What is plier in hindi

नमस्कार दोस्तों, इस लेख में हम जानेंगे कि प्लास (Plier) क्या होता है? यह क्या काम करता है? तथा यह कितने प्रकार के होते हैं? तथा इससे जुड़े हुए अनेक तथ्यों के बारे में जानेंगे।

प्लास (Plier)

प्लास (Plier) एक हस्तचालित उपकरण होता है अर्थात् यह हाथ से उपयोग होने वाला उपकरण है। जिसका प्रयोग हम किसी वस्तु को कसकर पकड़ने के लिए करते हैं जिससे हम वस्तु को अपने अनुसार मोड़ सकें। कांस्य युग में यूरोप में एक चिमटे का उपयोग गर्म वस्तुओं को पकड़ने में किया जाता था प्लास उसी चिमटे का विकसित रूप है।

Plier
Plier

प्लास एक प्रथम श्रेणी की धातु निर्मित किया जाता है इसमें धातु की दो छड़ों को पीटकर इस प्रकार फेलाया जाता है कि आगे के हिस्से से वस्तुओं को पकड़ा जा सके तथा छड़ के पीछे के हिस्से को उंगलियों के आकार का बनाया जाता है जिसे आसानी से पकड़ कर बल लगा सकें तथा इस हिस्से को प्लास्टिक से ढका जाता है जिससे कि बल लगाने में हमारे हाथों को आसानी है

प्लास के भाग (Part of Plier) –

हर प्रकार के प्लायर को विशिष्ट धातुओं तथा अधातुओं के मेल से बनाया जाता है प्लास के मुख्य भाग निम्नलिखित हैं –

  • जबड़ा
  • रिवेट
  • हेंडल

जबड़े

यह प्लास का सबसे आगे का हिस्सा होता है जो धातु से बना होता है इसी द्वारा वस्तुओं पर पकड़ बनायी जाती है।

रिवेट

यह प्लायर के मध्य भाग में लगा होता है इसी की मदद से प्लायर की दोनों छड़ों को जोड़ा जाता है।

हेंडिल

यह प्लायर का अहम भाग होता है क्योंकि इसी की सहायता से जबड़ों पर बल लगाया जाता है।

प्लास का वर्गीकरण (Classification of Plier)

किसी भी उपकरण का वर्गीकरण उसकी कार्यक्षमता, आकार, बनावट के अनुसार वर्गीकरण किया जाता है। वैसे प्लास मुख्य रूप से 16 प्रकार के होते हैं इनमें से कुछ निम्नलिखित हैं –

  1. विकर्ण प्लास या साइड कटर (Diagonal pliers or side cutters)
  2. स्लिप ज्वाइंट प्लास (Slits joint Plier)
  3. लाइनमैन के प्लास या संयोजन प्लास (Line men’s Plier or combination plier)
  4. सुई-नाक प्लास (needle nose plier)
  5. बेंट नाक प्लास (bent nose plier)
  6. पिनर्स (Pincers)
  7. विद्युत तार स्ट्रिपिंग और टर्मिनल क्रिम्पिंग प्लास (Electrical Wire Stripping and Terminal Crimping Plier)
  8. हैंड क्रिम्प टूल (hand crimp tool)
  9. टंग-एंड-ग्रूव प्लास (tongue-and-groove pliers)
  10. लॉकिंग प्लायर्स या वाइस-ग्रिप (Locking pliers or vice-grip)
  11. सर्कलिप प्लास (Circlelip Pliers)
  12. राउंड-नोज प्लास (round-nose pliers)

विकर्ण प्लास या साइड कटर (Diagonal pliers or side cutters)

Plier
Diagonal Plier

यह एक ऐसा प्लास है जिसका उपयोग तार को काटने में किया जाता है। इसका उपयोग कभी भी किसी भी वस्तु को घुमाने या मोड़ने के लिए प्रयुक्त नहीं किया जाता है। इसके जबड़े धारदार होते हैं इसलिए इसका उपयोग केवल कटिंग के लिए किया जाता है।

स्लिप ज्वाइंट प्लास (Slits joint Plier) –

यह एक ऐसा प्लास होता है जिसके जबड़े मोटे, पलते तथा नियमित रूप से अनेक हो सकते हैं। यह प्लास दो या दो से अधिक पोजिशन हो सकती है। तथा इसके जबड़ों के आकार को बढ़ाने के लिए इसे स्थानांतरित किया जा सकता है। इसको कफी अधिक खोला जा सकता है।

लाइनमैन के प्लास या संयोजन प्लास (Line men’s Plier or combination plier)

यह प्रकाश इंजीनियरिंग में प्रयोग होने वाला एक प्लास है इसके जबड़े बहुत ही मजबूत होते हैं इसलिए इसका उपयोग धातु की कटिंग करने में तथा धातु से बने वस्तुओं की बनावट को अच्छा बनाने में प्रयोग किया जाता है।

सुई-नाक प्लास (needle nose plier)

जैसा कि नाम से ही है कि जिस प्लान का जबड़ा नाक की लम्बा होता है उसे सुई नाक पलास कहते हैं। इस प्रकार के प्लायर का उपयोग आभूषण बनाने में, कारीगरों, नेटवर्क इंजीनियरिंग में तथा धातुओं को झुकाने में किया जाता है।

पिनर्स (Pincers)

पिनर्स एक प्रथम श्रेणी का लीवर होता है जो कि प्लास से थोड़ा भिन्न होता है किन्तु इसकी बनावट के अनुसार इसे प्लास की श्रेणी में रखा जाता है। इसका उपयोग पिंच करने, किसी वस्तु को काटने तथा किसी स्क्रू या कहीं पर चुभी हुई वस्तु को खींचने तथा घुमाने में किया जाता है।

सर्कलिप प्लास (Circlip pliers)

सर्कलिप प्लायर एक अर्द्ध लचीली धातु से बना होता है जिसे जीजस क्लिप, सी-क्लिप, रोटर क्लिप भी कहते हैं। इसका आगे का हिस्सा रिंग की तरह पीछे का हिस्सा उंगली होती हैं जिन्हें दबाने से रिंग भी आवश्यकता के अनुसार दब (press) जाती है।

सावधानियां (Precaution) –

Nidile nose plier
Nidile nose plier
  • प्लायर को प्रयोग करने से पहले उसके जबड़े, हेंडिल की अच्छे से जांच करनी चाहिए।
  • यदि प्लायर का उपयोग विद्युत संबंधित क्षेत्र में किया जा रहा हो तो उसके हेंडिल का इंसुलेशन की अच्छे जांच करनी चाहिए।
  • जंग से बचाव हेतु प्लायर पर आयलिंग करनी चाहिए।
  • जहां जिस प्लायर की आवश्यकता हो वहां पर उसी प्लास का प्रयोग करना चाहिए।

प्लास (Plier) क्या काम करता है?

प्लास एक हस्तचालित उपकरण है जो वस्तुओं को खुलाने, कसकर पकड़ने का काम करता है।

Also read. पेंचकस क्या है? What is a screwdriver in hindi?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *